दो किलोमीटर की सड़क के लिए संघर्ष

पिथौरागढ़ संवाददाता| जनपद के कई क्षेत्रों में आज भी जन समस्याओं का अम्बार लगा हुआ है, चाहे वो बिजली, पानी, स्वास्थ्य, स्कूल हो या सड़क| यहाँ के ग्रामीणों को आज भी इन समस्याओं से दो-चार होना पड़ता है| ऐसी ही एक समस्या है जो, पिछले पांच सालों से दो किमी सड़क के लिए ग्रामीणों को तरसना पड़ रहा है, इस समस्या के समाधान के लिए ग्रामीणों को सड़क पर उतरना पड़ा| गुस्साई चलमोड़ी गांव की महिलाओं ने थल तहसील कार्यालय के सम्मुख प्रदर्शन किया। इस मौके पर सड़क निर्माण में लोनिवि की अनियमितता की जांच की मांग की गई।

थल से चलमोड़ी तक वर्ष 2012 में दो किमी सड़क स्वीकृत हुई थी। लोनिवि डीडीहाट ने वर्ष 2014 -15 में एक किमी सड़क का निर्माण किया। इससे आगे का कार्य रोक दिया गया। एक किमी सड़क में बने सभी स्कवर बह चुके हैं, दीवार ढह गई हैं। जिस कारण बरसात का पानी सड़क से ग्रामीणों के खेतों पर जा रहा है। बरसात में पानी से ग्रामीणों के खेत मय फसल के बह जाते हैं। सड़क पूरी नहीं होने और ऊपर से इस परेशानी को लेकर शुक्रवार को चलमोड़ी गांव की महिलाएं तहसील मुख्यालय पहुंची।

तहसील कार्यालय के सम्मुख प्रदर्शन करते हुए महिलाओं ने निर्मित एक किमी सड़क में क्षतिग्रस्त स्कॅवरों का पुनर्निमाण और दीवारों को ठीक करने की मांग रखी। महिलाओं ने तहसील प्रशासन से लोनिवि के कार्यों की जांच की मांग की। प्रदर्शन करने में अनेक ग्रामीण महिलाओं ने हिस्सा लिया|

Releated Post