उत्तरकाशी (माघ मेला)-स्थानीय कलाकारों ने खूब जमाया रंग, मुकेश नौटियाल,नवीन कठैत और सुन्दर सैलानी के गीतों से झुमे दर्शक

मेले के दौरान प्रस्तुति देते लोक गायक मुकेश नौटियाल

उत्तरकाशी (माघ मेला ) – मंकर संक्राती के अवसर जहां विभिन्न देवी देवताओं की डोलीयां ने सुबह गंगा मे स्नान किया | वहीं स्याम  को माघ मेले के मुख्य पंडाल मे संस्कृतिक कार्यक्रमो का आयोजन किया गया

  • स्थानीय कलाकारों ने श्रोताओं कि खूब तालियां बटोरी मुकेश नौटियाल (Mukesh Nautiyal) के गीत “रौसा बौ“ “आज ब्यनि मैत जा“ ने दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया
  • नवीन कठैत(Naveen Kathait) द्वारा संकर वंदना “मेरा मन का शिवालय मां”,“फुलारी” आदी गीतों को दर्शकों ने खुब पसंद किया गया,वहीं सुंदर सैलानी के गीत धना दे,सेना मैत जई ना को जनता द्वारा काफी पंसद किया गया।     
                 
    प्रस्तुति देते लोक गायक नवीन कठैत.
       
     एक ओर जहां जिला पंचायत पर स्थानीय कलाकारो की उपेक्षा का आरोप लगाया जाता रहा है,वहीं इस बार स्थानिय कलाकारो को मौका देना जिला पंचायत का सराहनीय कदम माना जा रहा है।
  • वहीं मेले मे इस बार मे खरीददारों कि काफी भीड देखने को मिल रही है,माघ मेले के तहत विभिन्न सरकारी विभागों द्वारा स्टाल भी लगाये गऐ है जिसमे कृशि विभाग,समाज कल्याण,स्वास्थ्य,उद्योग आदि विभागो से ग्रामीण सरकारी योजनाओं की जानकारी ले रहें है वही दूसरी ओर मेले मे लगें मे लगे झूले बच्चों को काफी पसंद आ रहें है।
    माघ मेले मे संस्कृतिक कार्यक्रम जहां एक और उत्तरांखड़ की लोक संस्कृति की झलक पेश कर रहें है वही दूसरी और माघ मेले मे चार चांद भी लगा रहें है. 

माघ मेले की फोटो – 

Releated Post