लंबगांव छेड़छाड़ मामला और विवाद

lambgaon incident tehri

लगातार बढ़ती आपराधिक घटनाओं के बीच घटनाओं को सही तरीके से लोगों के बीच में लाना भी अति आवश्यक है। ऐसे में सोशल मीडिया में केवल वायरल खबर फ़ैलाने से आपसी द्वेष की भावना का होना संभव है।  हाल ही में टिहरी में लंबगांव में हुई  की घटना को मीडिया और पुलिस द्वारा अलग अलग तरीके से प्रस्तुत किया गया है।

प्रतिष्ठित समाचार पत्र दैनिक जागरण के अनुसार 

टिहरी जिले के लम्बगांव में स्कूल जा रही एक शिक्षक से छेड़छाड़ पर ग्रामीणों ने दो युवकों की जमकर धुनाई की। पुलिस ने दोनों को किसी तरह भीड़ के चंगुल से छुड़ाकर थाने ले आई। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। घटना से गुस्साए लोगों ने मुख्यमार्ग पर दो घंटे तक जाम भी लगाया। बाद में एसडीएम के समझाने पर लोग शांत हुए।

घटना गुरुवार सुबह की है। निकटवर्ती गांव की रहने वाली एक युवती एक निजी स्कूल में शिक्षक है। युवती रोज की तरह स्कूल जा रही थी तो रास्ते में दो युवक पैर अड़ाकर बैठे थे। युवती ने दोनों से पैर सिकोड़ने का आग्रह किया। आरोप है कि युवक छेड़छाड़ करने लगे और विरोध करने पर चाकू निकाल लिया। दहशतजदा युवती ने शोर मचाया तो आसपास के लोग वहां पहुंच गए। गुस्साए लोगों ने दोनों की जमकर धुनाई की। हंगामे की सूचना पर पुलिस पहुंची। किसी तरह दोनों आरोपितों को भीड़ के चंगुल से छुड़ाया और थाने ले आई। पूछताछ में उन्होंने अपना नाम मोहम्मद सारिक और गुल मोहम्मद बताया। दोनों ग्राम दीदा नंगला थाना कोतवाली बिजनौर उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं। युवती की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। थानाध्यक्ष सुखपाल ¨सह ने बताया कि सारिक एक साल से यहां रह रहा है और एक वेल्डिंग की दुकान में काम करता है, जबकि गुल मोहम्मद कुछ दिन पहले ही लंबगांव आया था।

जबकि पुलिस प्रशासन के फेसबुक पेज से यह अपील देखने को मिली है।

#अपील
आज दिनांक 06.09.2018. को थाना लम्बगाव क्षेत्रान्तर्गत एक स्थानीय युवती को दो स्थानीय युवको द्वारा उसके रास्ते में पैर डालकर रोकने का प्रयास किया गया ,लड़की द्वारा उनको नजर अन्दाज कर आगे बढ़ जाने पर उन युवको द्वारा उसका पीछा किया गया इस पर लड़की द्वारा भागकर अपने रिश्तेदारों को यह बात बताई गयी जिस पर स्थानीय लोगो द्वारा उक्त युवको की पिटाई की गयी । पुलिस द्वारा तत्काल मौके पर पहुंचकर उक्त युवको को अपने कब्जे में लिया गया। युवती की लिखित तहरीर पर उक्त युवको के विरूद्ध अभियोग पंजीकृत किया गया।
उक्त घटना को कतिपय व्यक्तियो द्वारा बडा-चढ़ाकर एवं अतिरंजित कर सोशल मीडिया पर पोस्ट किये जा रहे है

#ऐसे_भडकाऊ_पोस्टो_पर_सोशल_मीडिया_सैल_टिहरी_गढ़वाल_द्वारा_नजर_रखी_जा_रही_है_आपके_द्वारा_किसी_पोस्ट_को #शेयर_व_पोस्ट_पर_कमेंट_किया_जाता_है_तो_आपके_विरूद्ध_वैधानिक_कार्यवाही_की_जायेगी।
अत:आप सभी व्यक्तियो से अनुरोध है की ऐसी पोस्टो को शेयर न करे।
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
*सोशल मीडिया सैल*
*टिहरी पुलिस*

पहले भी उत्तरकाशी में हुई घटना को प्रतिष्ठित समाचार पत्रों और सोशल मीडिया द्वारा बढ़ चढ़ कर फैलाया गया था। ऐसे में सही घटना की जानकारी न होने पर लोगों में आपसी वैमनस्य का भाव जागृत होने के प्रबल आसार हैं।  अब पुलिस प्रशासन या समाचार पत्र में से कोई तो पूरी सच्चाई बयां नहीं कर रहा है।  ऐसे में स्थानीय लोगों को घटना की पूरी जानकारी न होने तक पुलिस प्रशासन की मदद करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें :

घेरे में केन्द्र सरकार : विवादित SC/ST Act के खिलाफ आंदोलन उग्र

जानिए किन शिक्षकों को मिला वर्ष 2018 राजकीय शिक्षक सम्मान

भारत में ‘Facebook’ की प्रासंगिकता

Releated Post