जानिए किन शिक्षकों को मिला वर्ष 2018 राजकीय शिक्षक सम्मान

governors award uttarakhand 2018

शिक्षा के क्षेत्र में विशेष योगदान देने पर शिक्षकों के प्रोत्साहन के लिए हर वर्ष कुछ चुनिंदा शिक्षकों को सम्मानित किया जाता है। हर वर्ष की भांति वर्ष 2018 में भी शिक्षक दिवस पर प्रदेशभर के 31 शिक्षकों को गवर्नर्स अवार्ड (Governors Award) से सम्मानित किया गया। इसमें बेसिक और माध्यमिक स्तर के 26 शिक्षक शामिल हैं। जबकि पांच शिक्षक संस्कृत शिक्षा से हैं।

  • प्रदेश में प्रतिवर्ष माध्यमिक व प्राथमिक शिक्षा के राजकीय विद्यालयों के उत्कृष्ट शिक्षक-शिक्षिकाओं को सम्मानित किया जाता है गवर्नर्स अवार्ड से।
  • शिक्षक दिवस पर राजभवन में आयोजित सम्मान समारोह में राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने इन्हें सम्मानित किया।

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य (Baby Rani Mourya) ने कहा कि शिक्षक साधुवाद के पात्र हैं क्योंकि वह उत्तराखंड का भविष्य बना रहे हैं। छोटे बच्चे खाली स्लेट की तरह होते हैं। शिक्षक उसपर जो लिख देगा वह हमेशा के लिये रहेगा। पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का जिक्र करते राज्यपाल ने कहा कि बच्चों को इतने बड़े सपने दिखाओ कि वह सोने न पाएं। शिक्षण में तकनीकी के समावेश पर उन्होंने जोर दिया। प्रदेशभर के सभी विद्यालयों में एक पीरियड स्वच्छता के नाम करने की बात कही। उन्होंने बालिका शिक्षा पर विशेष जोर देते कहा कि शिक्षक उन्हें ज्ञान और अनुशासन दें। क्योंकि बेटियां आगे बढेंगी तो एक नहीं दो-दो घरों का मान बढाएंगी।

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के अनुसार  ईश्वर, माता-पिता और शिक्षक के विषय में जितना कहा जाए कम है। प्रदेश में शिक्षक बहुत अच्छे हैं। इस बार का बोर्ड परीक्षाफल उन्हीं की मेहनत का नतीजा है। सचिव भूपेंद्र कौर औलख (Bhupendra kaur Aulakh) ने कहा कि बच्चे कच्ची मिट्टी की तरह हैं। यह गुरु पर निर्भर करता है कि उसे क्या आकार दे। उन्होंने कहा कि शिक्षक अपने आचरण से उदाहरण प्रस्तुत करें।

सम्मानित होने वाले शिक्षक:
प्राथमिक

  • अल्मोड़ा     दीपा आर्य (Deepa Arya), प्रअ, राप्रावि लमगड़ा
  • बागेश्वर      कमला परिहार (Kamla Parihar), सअ, राकजूहा मन्यूड़ा गरूड़
  • चमोली      वीएस झिंक्वाण(VS Jhinkwan), सअ, राप्रावि मानुरा दशोली
  • चंपावत      रेखा वोरा (Rekha Vohra), प्रअ, राप्रावि मौनपौखरी
  • देहरादून     अरविंद सोलंकी (Arvind Solanki), प्रअ, राप्रावि रामगढ़, रायपुर
  • हरिद्वार     अमरीश चौहान (Amreesh Chauhan), सअ, राप्रावि टीरा टौंगिया
  • नैनीताल     ममता धामी (Mamta Dhami), राप्रावि रतौड़ा, बेतालघाट
  • पौड़ी           कुमुद रावत, प्रअ, राप्रावि चोपड़ा, पोखड़ा
  • पिथौरागढ़    गिरीश चंद्र जोशी (Girish Chandra Joshi), सअ, राउप्रावि नैनीपातल
  • रुद्रप्रयाग      रेखा पुजारी (Rekha Pujari), प्रअ, राआप्रावि खुमेट
  • टिहरी          उषा त्रिवेदी (Usha Trivedi), सअ, राप्रावि कोट (क्वीली)
  • उत्तरकाशी    चंद्रकला शाह (Chandrakala Shah), प्रअ, राप्रावि मातली
  • यूएसनगर    किरण शर्मा (Kiran Sharma), प्रअ, राप्रावि कचनालगाजी

माध्यमिक

  • अल्मोड़ा  राजेंद्र सिंह बिष्ट (Rajendra Singh Bisht), प्रवक्ता, जीआईसी चौमूधार
  • बागेश्वर   आलोक पांडे (Arvind Pandey), प्रवक्ता, जीआईसी वज्यूला, गरूड़
  • चमोली    पुष्पा कनवासी (Pushpa Kanvasi), सअ, जीजीआईसी नारायणबगड़
  • चंपावत    राजेंद्र कुमार गड़कोटी (Rajendra Kumar Gadkoti), प्रवक्ता, जीआईसी बापरू
  • देहरादून   मधु कुकसाल (Madhu Kuksal), सअ, जीजीआईसी राजपुर रोड
  • हरिद्वार    पूनम शर्मा (Poonam Sharma), प्रिंसिपल, जीजीआईसी, झबरेड़ा
  • नैनीताल  महेश चंद्र जोशी (Mahesh Chandra Joshi), सअ, राउमावि पाटकोट
  • पौड़ी         एनएस असवाल (NS Aswal), सअ, राउमावि बमणगांव, रिखणीखाल
  • पिथौरागढ़  राजीव कुमार कश्यप (Rajiv Kumar Kashyap), सअ, जीआईसी बांसबगड़
  • रुद्रप्रयाग    दर्शन सिंह रावत (Darsan Singh Rawat), प्रवक्ता, जीआईसी रामाश्रम
  • टिहरी          शशि नेगी (Shashi Rawat), प्रवक्ता, जीजीआईसी, नरेंद्रनगर
  • उत्तरकाशी    सोवेंद्र सिंह (Sovendra Singh), प्रवक्ता, जीआईसी बर्नीगाड
  • यूएसनगर    धर्मेंद्र सिंह (Dharmendra Singh), सअ, जीआईसी बरहैनी बाजपुर

संस्कृत शिक्षा

  • डॉ. जगदीश प्रसाद सकलानी (Dr. Jagdish Prasad Saklani), प्रवक्ता, फलित ज्योतिष श्री जयदयाल अग्रवाल संस्कृत महाविद्यालय, पौड़ी गढ़वाल
  • डॉ.नवीन चंद्र जोशी (Dr. Naveen Chandra Joshi),सहायक प्रवक्ता,नव्य व्याकरण, श्री महादेव गिरी संस्कृत महाविद्यालय, हल्द्वानी
  • डॉ.महेश चंद्र जोशी (Dr. Mahesh Chandra Joshi), प्रवक्ता साहित्य, ऋषिकुल ब्रह्मचर्याश्रम, संस्कृत महाविद्यालय, हरिद्वार
  • हरीश चंद्र जोशी (Harish Chandra Joshi), सहायक अध्यापक, श्रीराम संस्कृत महाविद्यालय, तल्लीताल, नैनीताल
  • डॉ.ओमप्रकाश पुर्वाल (Dr. Omprakash Purwal), प्रधानाचार्य, श्री नेपाली संस्कृत महाविद्यालय, ऋषिकेश

यह भी पढ़ें:

 बग्वाल : रक्षाबंधन पर यहाँ बहाया जाता है खून

भारत में ‘Facebook’ की प्रासंगिकता

8 सितम्बर से नहीं दिखेंगी 108 सेवा?

क्या उत्तराखंड (Uttarakhand) में सुरक्षित (Safe) हैं महिलाएं (Women)?

बेबी रानी मौर्य (Baby Rani Maurya) बनीं उत्तराखंड की 7वीं राज्यपाल (Governor)

Releated Post