नाग देवता डोली यात्रा में दुखद जीप दुर्घटना

नाग देवता की डोली लेकर लौट रहे थे, पलक झपकते ही खाई  निगल गई 13 जिंदगियां, दर्दनाक तस्वीरें…

Jeep accident nag Devta 1
Jeep accident nag Devta 1
Jeep accident nag Devta 2
Jeep accident nag Devta 2
Jeep accident nag Devta 3
Jeep accident nag Devta 3

 

 

Jeep accident nag Devta 4
गंगोत्री  हाईवे पर भटवाड़ी से करीब सात किमी दूर गंगोत्री की ओर एक टैंपों ट्रैवलर वाहन दुर्घटनाग्रस्त होकर करीब पचास मीटर गहरी खाई में जा गिरा। हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई, जबकि 2 लोग गंभीर रूप से घायल हुए। घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया है। जबकि हादसा स्थल पर पहाड़ी की खड़ी ढाल और नीचे गंगा भागीरथी के उफान के चलते शवों को निकालने में खासी मशक्कत करनी पड़ रही है।दुर्घटनाग्रस्त वाहन में असी गंगा घाटी के भंकोली गांव के ग्रामीण सवार थे। जो गांव के आराध्य देवता के साथ गंगोत्री धाम से गंगा स्नान कर लौट रहे थे। हादसे की प्रत्यक्षदर्शी भंकोली गांव निवासी ममता रावत ने बताया कि रविवार को गांव के आराध्य नाग देवता के साथ करीब दो सौ ग्रामीण गंगोत्री धाम की यात्रा पर गए थे।दुर्घटनाग्रस्त वाहन में असी गंगा घाटी के भंकोली गांव के ग्रामीण सवार थे। जो गांव के आराध्य देवता के साथ गंगोत्री धाम से गंगा स्नान कर लौट रहे थे। हादसे की प्रत्यक्षदर्शी भंकोली गांव निवासी ममता रावत ने बताया कि रविवार को गांव के आराध्य नाग देवता के साथ करीब दो सौ ग्रामीण गंगोत्री धाम की यात्रा पर गए थे।इस धार्मिक यात्रा के जत्थे में एक टैंपो ट्रैवलर समेत 16 टैक्सी वाहन शामिल थे। सोमवार को गंगोत्री से लौटते समय दोपहर करीब सवा दो बजे संगलाई और भुक्की के बीच पहाड़ी से अचानक भारी भूस्खलन हुआ। इससे पहले कुछ गाड़ियां आगे निकल गईं, लेकिन पीछे से आ रहा टैंपो ट्रैवलर भूस्खलन की चपेट में आकर करीब पचास मीटर गहरी खाई में जा गिरा। हादसा इतना भीषण था कि वाहन के परखच्चे उड़ गए। इस वाहन में चालक समेत 15 लोग सवार थे।

हादसे के दौरान मीनाक्षी(13) पुत्री रामवीर रावत एवं राधा(14) पुत्री रणवीर रावत सड़क से नीचे ही छिटक कर गंभीर रूप से घायल हो गईं। उन्हें तत्काल उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भटवाड़ी पहुंचाया गया। वहां से उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया है। दोनों घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है।जबकि वाहन में सवार शेष सभी 13 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस एवं एसडीआरएफ की टीम रेस्क्यू अभियान में जुट गई। शवों को खाई से निकालकर सड़क तक पहुंचाने में इस टीम को खासी मशक्कत करनी पड़ी।प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक वाहन हादसा भूस्खलन के कारण हुआ। डीएम डा.आशीष चौहान, एसडीएम देवेंद्र नेगी, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल एवं पुलिस के तमाम अधिकारी मौके पर मौजूद रहकर रेस्क्यू अभियान पर नजर रखे हुए हैं।
source :amarujala

Releated Post